कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले य़े जानले की वो बिजनेस हम क्यू शुरू कर रहे हैं ताकि हम उस बिजनेस में अपना पैसा निवेश करके अच्छा कमा ले ।लोगों  को बिज़ी लाइफ में फ्रोजन फूड उनकी जीवनशैली का अंग बन चुका हैं । तो आयय़े जानते हैं इसके बारे में ।

तो पहले जानते हैं फ्रोजन फूड के बारे में | Frozen Food Meaning

फ्रोजेन फूड वो  होते हैं  जिसे हम बहुत दिनो तक फ्रीज कर सकते हैं जैसे चिकन, समुद्री भोजन, छिली हुई मटर के दाने,  फलों का रस, डेयरी प्रॉडक्ट्स कटी हुई सब्जी,सलाद, स्न्ड्विच आदि । 


फ्रोज़न फूड में  कौनसा चयन करना हैं?

अगर आप फ्रोज़न फूड का चयन कर लेते हैं तो उसके बाद, बात आती हैं की उस फूड से संबंध, सामग्री की पूर्ति करना । 

पूंजी की व्यवस्था करना । Frozen Food Business Investment 

इसके बाद बात आती हैं की हम जो बिजनेस करने  जा रहे  हैं उसके लिए पर्याप्त पैसों का होना, तभी हम इस काम को कर सकते हैं । इसके लिए आपके पास अच्छी ख़ासी धनराशि होना चाहिए, ताकि हम इन सब चीजों में पैसे लगा सके । 

पूर्तिकर्ताओं से संपर्क करना । 

जब आपने फूड का चयन कर ही लिया हैं तो आपका अगला कदम उठाना हैं की सप्लायर से संपर्क करना हैं फिर उनके साथ सभी खाद्यों का सही गुण को पहचान कर अच्छे मूल्य दर पर लेना । 

लाइसेंस एवं परमिट लेना । Frozen Food Business License 

भारत में खाद्यों से संबंधित कोई भी चीज़ हो आपको सबसे  पहले इसके लिए  FSSAI में पंजीकरण तथा लाइसेंस कराना अनिवार्य हैं । इसके लिए पहले आप फ्रोज़न फूड के बारे में जानकारी हासिल करें और लाइसेंस को जुटाने का प्रयास करें, नही तो आपको कानूनी अड़चनों का सामना करना पढ़ सकता हैं । 

आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था करें ।

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए कुछ उपकरणों की  जरूरत पड़ेगी साथ ही पानी, बिजली एवं अन्य मूलभूत चीजों को भी ध्यान में रखे । जनरेटर अथवा इनवर्टर की भी जरूरत पढ़ सकती हैं खाने को फ्रीज करने के लिए । 

बिजनेस को कैसे प्रचारित करें | Marketing of Business

अपनें बिजनेस का प्रचार करने के लिए आप पम्प्लेट, पोस्टर, और मीडिया की भी मदद ले सकते हो । 

ग्राहक को अपनी सेवा प्रदान करें ।

कोई भी बिजनेस करो जब तक ग्राहक खुश नही होता वो बिजनेस सफल नही होता ।
इसलिए अपनें ग्राहक के  जरूरतों को नजर व ध्यान रख कर ही उनको अपनी सेवा प्रदान करें ।ताकि  आपका ग्राहक आपके दुकान में ही आये ।